Loading...
loading...
Loading...
loading...
No icon

चुपचाप सुबह सुबह घर का दरवाजा खोलते ही करे ये काम और सभी परेशानियों से पाएं निजात !

Loading...
heelo

इसमें कोई संदेह नहीं, कि घर का मुख्य द्वार ही घर के आकर्षण का सबसे बड़ा केंद्र होता है. ऐसे में यदि घर का द्वार वास्तु के अनुसार बना हो तो, घर में रहने वाले लोगो को स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता और साथ ही घर में सदैव सुख शान्ति बनी रहती है. इसके इलावा कई बार ऐसा होता है, कि कुछ उपाय हमारे लिए काम नहीं कर पाते, तो इसका कारण ये नहीं, कि उन उपायों में कोई दिक्क्त होती है, बल्कि इसका कारण ये है, कि आपका विश्वास कमजोर पड़ जाता है.

इस चूर्ण को सुबह और शाम को १ गिलास दूध के साथ सेवन करने से कमजोर से कमजोर मनुष्य भी निरोगी और हष्ट पुष्ट हो जाता है. सुनथि, अश्वगंधा, शतावरी, विदारीकंद, सफ़ेद मूसली, आत्मगुप्ता, अर्जुन, आमलकी को मिलकर बनाया गया ख़ास मिश्रण कमजोर और डायबिटीज से परेशान लोगो के लिए रामबाण आयुर्वेदिक खोज है. आयुर्वेद के अनुसार पहला सुख निरोगी काया है और अगर आप भी निरोगी काया पाना चाहते हैं और अंग्रेजी दवाइयों से खुद को छुटकारा दिलाना चाहते हैं तो आज से ही अपने दैनिक जीवन में शामिल करें डॉ. नुस्खे शक्तिवर्धक योग और पाएं खुद को पहले से बेहतर और रोग मुक्त.

 

इसलिए आज हम आपको ऐसे उपाय बताएंगे जिनका इस्तेमाल यदि आप सुबह उठ कर दरवाजा खोलते समय करेंगे तो आपके घर में कभी धन और सुख की कमी नहीं होगी. वैसे वास्तु के अनुसार आपके घर का मुख्य द्वार आपको कई परेशानियों से बचा सकता है. ऐसे में यदि आप भी घर में हो रही छोटी मोटी परेशानियों से जूझ रहे है, तो एक बार ये उपाय जरूर करे. इन उपायों से आप अपनी परेशानियों से निजात पा सकते है.

सबसे पहले उपाय के अनुसार जब भी आप सुबह अपने घर का दरवाजा खोले तो गंगाजल का छिड़काव जरूर कर दे और साथ ही दरवाजे पर स्वास्तिक बनाएं. यह स्वास्तिक आप हल्दी या कुमकुम से भी बना सकते है. इसके इलावा इस बात का ध्यान रखे, कि ये काम आपको सूर्य उदय से पहले करना है.

इसके इलावा घर के दरवाजे पर अशोक या आम के पत्तो को मौली से बांध कर जरूर लगाना चाहिए. बता दे कि इससे कोई भी नकारात्मक शक्ति आपके घर में प्रवेश नहीं कर पाएगी. इन कामो को अपने दैनिक जीवन में जरूर अपनाएं और ढेर सारी खुशियां पाएं.

Loading...
loading...

Comment


X